जयपुर पुलिस कमिश्नरेट के नार्थ जिले में भट्‌टा बस्ती थाने का हेड कांस्टेबल अब्दुल रऊफ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) की टीम ने सोमवार शाम बड़ी कार्रवाई करते हुए भट्‌टा बस्ती थाने के हेड कांस्टेबल अब्दुल रऊफ को 15 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत के इस खेल में SHO राजेंद्र सिंह की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि रिश्वत की रकम SHO के लिए ली जा रही थी। हर महीने यह रकम ली जाती है। ACB ट्रैप की भनक लगने पर थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह वहां से खिसक लिए हेड कांस्टेबल अब्दुल रऊफ पिछले कई अरसे से भट्‌टा बस्ती थाने में तैनात है। उसके खिलाफ भवन निर्माण सामग्री का व्यापार करने वाले कारोबारी ने ACB में शिकायत दर्ज करवाई थी। आरोप लगाया था कि अब्दुल रऊफ उसके व्यापार में बाधा नहीं डालने के एवज में थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह के नाम पर 20 हजार रुपये मासिक बंधी लेता है।

व्यापार मंदा हुआ तो आई मुश्किल

लॉकडाउन की वजह से व्यापार प्रभावित हुआ तो कारोबारी ने मासिक बंधी देने से इंकार कर दिया। बताया जा रहा है कि उसने थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह से भी मुलाकात कर पीड़ा जाहिर की थी। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। आखिरकार कारोबारी ने एसीबी में शिकायत कर मदद मांगी। तब एडिशनल एसपी नरोत्तम वर्मा के नेतृत्व में ACB टीम ने शिकायत का सत्यापन कर सोमवार को ट्रैप की तैयारी की। पीड़ित से बातचीत में हेड कांस्टेबल अब्दुल रऊफ ने 15 हजार रुपये बतौर मासिक बंधी लेना तय किया।

रकम बरामद

पीड़ित ने रिश्वत की रकम अब्दुल रऊफ को दी। तभी इशारा मिलते ही ACB टीम ने अब्दुल रऊफ को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत की रकम बरामद हो गई है। ACB थाना प्रभारी तक पहुंचती, इसके पहले वह थाने से चुपके से निकल लिए। अब उनकी भूमिका की जांच की जा रही है। ACB की कार्रवाई से भट्‌टा बस्ती थाने में हड़कंप मच गया। वहां मौजूद अन्य पुलिसकर्मी भी इधर-उधर हो गए।