सरिता सोनी

जयपुर, प्रदीप मोहन शर्मा आई.पी.एस. पुलिस उपायुक्त आयुक्तालय।जयपुर पश्चिम ने बताया कि जिले में सम्पत्ति संबंधी अपराध चोरी नकबजनी स्नैचिंग व लूट की वारदातें बढ़ रही है जिन पर अंकुश लगाने व वारदातों पर रोक लगाने व पैंडिंग प्रकरणों का निस्तारण करने के व वांछित मुल्जिमों की धरपकड़ करने हेतु अपराध गोष्ठी के दौरान समस्त थानाधिकारीयों को निर्देशित किया गया था, इस क्रम में हरिशंकर शर्मा सहायक पुलिस आयुक्त वृत्त झोटवाड़ा जिला जयपुर पश्चिम के सुपरविजन में गुरुदत्त सैनी पुलिस निरीक्षक थानाधिकारी पुलिस थाना कालवाड़ के निर्देशन में मोहन लाल हैड कानि. नरेन्द्र हैड कानि. हीरालाल कानि. शेरसिंह कानि. संदीप कानि, व अशोक कानि, की विशेष टीम का गठन किया गया। नाबालिग के परिजनों ने थाना हाजा पर घटित घटना के संबंध में रिपोर्ट दर्ज करवाई जिस पर प्रकरण संख्या 153/21 धारा 382, 363 आईपीसी में दर्ज कर दो मुल्जिम पूर्व में गिरफ्तार किये जाकर नकदी बरामद की जा चुकी है, फरार चल रहा घटना का तीसरा व मुख्य मुल्जिम हिस्ट्रीशीटर मुकेश उर्फ नान्छी को आज गठित टीम ने तकनीकी साधनों के आधार पर दस्तयाब कर घटना में इस्तेमाल वाहन मोटरसाईकिल समेत गिरफ्तार किया जाकर वारदात की नकद राशि भी बरामद की गई। मुल्जिम द्वारा जयपुर शहर के अन्य थानों से चुराये गये वाहन पाँच कार व तीन मोटरसाईकिल बरामद किये गये। मुल्जिम से अनुसंधान जारी है मुल्जिम के विरूद्ध विभिन्न थानों से पूर्व में चोरी, नकबजनी, आर्स एक्ट के 25 आपराधिक प्रकरणों में न्यायालय में चालान पेश किया जा चुका है मुल्जिम की पतारसी, गिरफ्तारी तथा कब्जे से जब्त वाहनों व नकदी को बरामद करने में कानि  हीरालाल व कानि शेरसिंह की अहम भूमिका रही।