जयपुर,,राजस्थान पुलिस स्थापना दिवस समारोह- आरपीए परेड ग्राउण्ड में आयोजित हुआ मुख्य समारोह इस अवसर पर गहलोत ने चुनावी साल का हवाला देते हुए पुलिस को अधिक चोकन्ना रहने की नसीहत दी हैं उन्होनें कहा कि कुछ लोगों को संविधान और लोकतंत्र के मूल्यों में विश्वास नहीं होता है ऐसे लोग जाति और धर्म के नाम माहौल बिगाड़ने की कोशिश करते है इसलिए पुलिस को अधिक चोकन्ना रहना होगा पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा ने बताया कि 16 अप्रेल 1949 में राजस्थान पुलिस एकीकरण अध्ययदेश जारी होने के साथ ही राजस्थान पुलिस की स्थापना हुई। उन्होंने बताया कि वर्तमान में एक लाख 12 हजार फोर्स की राजस्थान पुलिस अपनी गौरवशाली परम्पराओं के अनुरूप प्रदेश में कानून व्यवस्था को बनाये रखने के साथ ही हिंसा व अपराध की रोकथाम कर लिए ततपरता से कार्य कर रही है। उन्होंने पुलिस के आधुनिकीकरण व सुदृढ़ बनाने के लिए मुख्यमंत्री द्वारा किये गए कार्यो हेतु आभार व्यक्त करते हुए प्रदेश की शान्ति व्यवस्था को बनाये रखने के लिए आश्वस्त किया आरपीए निदेशक राजीव शर्मा ने अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया उन्होंने राजस्थान पुलिस की क्षमता बढ़ाने के लिये मुख्यमंत्री द्वारा किये प्रयासों के प्रति भी कृतज्ञता व्यक्त की इस अवसर पर मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह भी प्रदान किया गया आरपीए में 111 युनिट रक्त हुआ एकत्रित राजस्थान पुलिस स्थापना दिवस समारोह के तहत राजस्थान पुलिस अकादमी स्थित चिकित्सालय में 111 पुलिसकर्मियों ने रक्तदान किया पुलिस महानिदेशक उमेश मिश्रा और आरपीए निदेशक राजीव शर्मा ने रक्तदाताओं से मिलकर उनकी हौंसला अफजाई की आरपीए की प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ सीमा चौधरी ने बताया कि कुल 111 पुलिसकर्मियों ने रक्तदान किया उन्होंने बताया कि महानिदेशक मिश्रा के निर्देशानुसार इस रक्त का उपयोग कैन्सर व थैलेसीमिया के रोगियों के उपचार हेतु किया जा सकेगा