मनोहरपुर,,कस्बे में मंगलवार को बिशनगढ़ तिराहे पर वीर हंसराज की प्रथम पुण्यतिथि पर  रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया । इसमें विभिन्न ब्लड बैंकों की टीम ने कुल 207 यूनिट रक्त संग्रहण किया । इस मौके पर  विराटनगर विधायक इन्द्राज गुर्जर व पीसीसी सदस्य मनीष यादव ने वीर हंसराज की पत्नी वीरांगना कोशल्या देवी  सहित महिलाओं को शॉल व पुरुष परिजनों को  साफा पहनाकर सम्मानित किया  विराटनगर  विधायक इन्द्रराज गुर्जर व प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य मनीष यादव ने कहा कि रक्तदान महादान है यह रक्त जरूरतमंदों  की जिंदगी बचाने के काम आता है गोलीकाण्ड में वीरगति को प्राप्त हुए हंसराज की स्मृति में ऐसा आयोजन होना बड़ी गर्व की बात है ऐसे आयोजनों से बहादुरों का हौसला बढ़ता है गत वर्ष  प्रशासन और परिजनों के बीच हुए समझौते का पूरा लाभ परिजनों को मिलने तक  चेन से नही बैठने की बात कही रक्तदाताओं को गरम भोजन के टिफिन टीम मनीष यादव ने भेंट किए। कांग्रेस नेता प्रवीण व्यास , पूर्वप्रधान नंदलाल गोठवाल रोशन मुंडोतिया पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष नीमकाथाना ,मुकेश देव गुर्जर जोधपुरा , बनवारी ठुकराण ने  भी अपने विचार व्यक्त किए शिविर में पुरुषों के साथ महिलाओं  ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया इस मौके पर अल्लाउद्दीन खान,महेश जढवाल ,धर्मपाल यादव, पंकज मिश्रा, संपूर्णानंद ,रामनिवास यादव सरपंच बिशनगढ़, विनोद चौधरी  हनुतपुरा, कजोड़ फामडा मामटोरी,राजपाल गुर्जर , निहाल पलसानिया अक्षय सैनी सहीत अनेक  मौजूद रहे 3 ब्लड बैंकों की टीम ने किया रक्त संग्रहण रक्तदान  शिविर में कुल 207 यूनिट रक्तदान किया गया ।जिसमें एसएमएस ब्लड बैंक की टीम ने  61 यूनिट ,दुसाद ब्लड बैंक ने  83 यूनिट तथा निम्स ब्लड बैंक ने 63 यूनिट रक्त संग्रहित किया वीर हंसराज के पिता  शंकर लाल  पत्नी कोशल्या देवी ,पुत्र दुष्यंत  ,आदित्य  ,भाई मुकेश  ,गजानंद ,अर्जुन मोहनपुरिया, शिंभू मेहता, हरीश बेनीवाल, ने सभी भामाशाहों तथा कार्यकर्ताओं का धन्यवाद दिया मूर्ति लगाने की मांग की पीसीसी सदस्य यादव ने वीर हंसराज के नाम से तिराहे पर उसकी मूर्ति लगाने की मांग की तथा यह भी कहा कि जब भी मूर्ति लगेगी हम हमारे पैसे से लगाएंगे गोली लगने के बाद भी पकड़ा रहा आरोपी को गौरतलब है कि गत वर्ष हुए गोलीकांड में हंसराज ने  गोली लगने के बाद भी एक आरोपी को कसकर पकड़ लिया था जिसे मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने बाद में पुलिस के हवाले कर दिया था उपचार के दौरान ने हंसराज  की मृत्यु हो गई थी