स्वीटी अग्रवाल ( संवाददाता मनोहरपुर)

 

मनोहरपुर.कस्बे में शनिवार को मुस्लिम समुदाय के पर्व मोहर्रम से पहले मनाया जाने वाला अल्लमसद्दे( मेहंदी ) का जुलूस बड़े ही अकीदत से ढोल व ताशों की मातमी धुन के साथ कस्बे के विभिन्न मार्गो से निकाला गया। समाजसेवी हाफिज खान सारवान ने बताया कि अल्लमसद्दे(मेहंदी) का जुलूस तोपचीवाड़ा स्थित इमामबाडे से प्रारंभ होकर गांधी चौक होता हुआ सारवान मोहल्ला स्थित इमामबाड़े में पहुंचा। जहां पर अल्लमसद्दे और ताजियों का मिलान कराया गया। अखाड़े बाजी कार्यक्रम ने लोगों का मन मोह लिया। सारवान मोहल्ले से यह जुलूस लुहारमंडी पहुंचा। जहां पर विभिन्न अकीदतमंदो ने डाँड़- पट्टो से करतब करके उपस्थित लोगों को रोमांचित कर दिया। इस मौके पर शरबत की सबील भी लगाई गई । जुलूस चिड़ीमार दरवाजा से लंबे मार्केट होते हुए वापस से गांधी चौक से तोपचीवाडा स्थित इमामबाड़ा पहुंचा। रात में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मोहर्रम के सामने मेहंदी सहित अन्य सामान चढ़ाने की रस्म अदायगी की। इस मौके पर छोटे बालकों की ओर से भी छोटे-छोटे मोहर्रम बनाएं जा रहे हैं ।