स्वीटी अग्रवाल (संवाददाता मनोहरपुर)

 

 

राजकीय आयुर्वेदिक औषधालय मैं नहीं है प्रिंटिंग पर्चियां

 

मनोहरपुर,,,जहां एक ओर से राज्य सरकार है मरीजों सरकारी कार्मिकों को आरजीएचसी सुविधा देने के लिए पूरी तरह कृत संकल्प है उनके लिए समय-समय पर नियमों में छूट दी जा रही है। किंतु सरकारी कारिंदों की लापरवाही के चलते मरीजों के परिजनों को पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है। ऐसा मामला राजकीय आयुर्वेदिक चिकित्सालय मनोहरपुर मैं देखने को मिला है जहां पर प्रिंटेड पर्चियों  का पूर्णतया अभाव है ।मजेदार बात यह है की पर्चियां बीते करीब चार से पांच दिन हो गए । लेकिन अभी तक प्रिंटेड पर्चियां उपलब्ध नहीं हो पाई है आयुर्वेदिक चिकित्सालय प्रभारी के कथनानुसार वे मनोहरपुर की प्रिंटिंग प्रेस से अनजान हैं इसके चलते प्रिंटेड पर्चियो  को छपने में समय लग रहा हैं उन्होंने भामाशाहों व मरीजों के परिजनों को औषधालय के खर्चे पर पर्ची छपवाने लाने के लिए कहा गया हैं ।किंतु ग्रामीणों की जागरूकता व पूर्ण सहयोग के अभाव के चलते पर्चियां समय से नही छप पाई हैं। जिसके अभाव में सरकारी कार्मिकों के परिजनों को आरजीएसए से सुविधा का लाभ नहीं मिल रहा है। इसके चलते ग्रामीण राजेश पारीक ने आयुर्वेदिक विभाग के उपनिदेशक को शिकायत पत्र लिखा है इनका कहना है मैंने जून माह मैं यहां कार्यभार ग्रहण किया था। करीबी 4 दिन  पहले पर्चियां बीत गई थी। पर्चियों को छपवाने के लिए मैंने परिजनों को कहा था। कि मैं इस क्षेत्र से अनजान हूं  पर्चियों छपवाकर उसका भुगतान मेरे से प्राप्त कर लेना किंतु ग्रामीणों के सहयोग के अभाव में पर्चियां नही छप पाई हैं एक दो दिन में पर्चियां छपवाकर  ग्रामीणों को सुविधा दी जाएगी ब्रजमोहन शर्मा, आयुर्वेद चिकित्सक,  राजकीय आयुर्वेद चिकित्सालय मनोहरपुर